किसान विकास पत्र : Kisan Vikas Patra (KVP)

किसान विकास पत्र : Kisan Vikas Patra (KVP)

पोस्ट ऑफिस की यह स्कीम
निवेश को दोगुना करने की गांरटी देती है

अगर आप अपने निवेश की राशि को दोगुना करना चाहते हैं, तो पोस्ट ऑफिस की किसान विकास पत्र योजना में निवेश कर सकते हैं। यह केंद्र सरकार द्वारा समर्थित बेहद लोकप्रिय स्मॉल सेविंग स्कीम है। पोस्ट ऑफिस की इस योजना में निवेश से निवेशक को उसका रुपया सुरक्षित होने और बेहतर रिटर्न की गारंटी मिलती है।  इस योजना के लिए ब्याज की दर और निवेश के दोगुने होने की अवधि सरकार द्वारा तिमाही आधार पर तय की जाती है। भारतीय डाक की वेबसाइट के अनुसार, किसान विकास पत्र में अब मैच्योरिटी की अवधि को 113 महीने के स्थान पर 124 महीने कर दिया गया है। अर्थात इस योजना में अब ग्राहक का निवेश 124 महीने यानी 10 साल और 4 महीनों में दोगुना हो जाएगा। इस योजना में  एक अप्रैल 2020 से ब्याज दर 6.90 फीसद मिल रही है, जो कि पहले 7.60 फीसद थी।

कोई व्यक्ति किसान विकास पत्र में आज एक लाख रुपये निवेश करता है, तो आज से ठीक 124 महीने बाद उसे किसान विकास पत्र को भुनाने पर दो लाख रुपये मिल जाएंगे। वैश्विक आर्थिक मंदी और कारोबारी अनिश्चितताओं के बीच यह गारंटीड निवेश किसी भी निवेशक के लिए बहुत बड़ी बात है। इस समय शेयर बाजारों में भारी गिरावट का दौर चल रहा है। कोरोना वायरस के प्रकोप के चलते दुनिया भर की अर्थव्यवस्थाओं पर संकट के बादल मंडरा रहे हैं, ऐसे में निवेशक गारंटीड रिटर्न पाने के लिए पोस्ट ऑफिस की इस योजना में निवेश कर सकते हैं।

आइए जानते हैं कि इस योजना की और क्या-क्या विशेषताएं हैं।

1. किसान विकास पत्र को किसी भी विभागीय पोस्ट ऑफिस से खरीदा जा सकता है।

2. कोई भी एकल व्यस्क, ज्वाइंट अकाउंट के लिए अधिकतम तीन वयस्क, 10 साल से ऊपर का नाबालिग, नाबालिग के लिए कोई वयस्क और दिव्यांग व्यक्ति के लिए उसके अभिभावक किसान विकास पत्र खरीद सकते हैं।

3. किसान विकास पत्र को पासबुक के आकार में जारी किया जाता है।

4. KVP में नॉमिनेशन की सुविधा उपलब्ध है।

5. किसान विकास पत्र को एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति को स्थानांतरित किया जा सकता है।

5. KVP को एक पोस्ट ऑफिस से दूसरे पोस्ट ऑफिस में भी स्थानांतरित किया जा सकता है।

6. किसान विकास पत्र को जारी करने की तारीख के ढाई साल बाद भुनाया जा सकता है।

7. किसान विकास पत्र में निवेश के लिए न्यूनतम राशि 1,000 रुपये है। इसमें 100 के गुणकों में निवेश किया जा सकता है। साथ ही निवेश की कोई अधिकतम सीमा नहीं है।

कौन कर सकते हैं निवेश

किसान विकास पत्र में निवेश करने वाले की उम्र कम से कम 18 साल होना जरूरी है।
यह योजना नाबालिगों और जॉइंट अकाउंट होल्डर्स के लिए भी मैजूद है।
यह योजना HUF या NRI को छोड़कर ट्रंस्ट के लिए भी लागू है।
KVP में 1000 रुपये, 5000 रुपये, 10,000 रुपये और 50,000 रुपये तक निवेश किए जा सकते हैं।

किसान विकास पत्र के प्रकार

  • सिंगल होल्डर सर्टिफिकेटएक वयस्क व्यक्ति या एक नाबालिग के लिए
  • जॉइंट Aजॉइंट रूप दो वयस्कों के लिए। यह दोनों व्यक्तियों या मैच्योरिटी तक जीवित रहने वाले व्यक्ति को लाभ देता है
  • जॉइंट Bजॉइंट रूप दो वयस्कों के लिए। यह दोनों व्यक्ति में से किसी एक को या फिर मैच्योरिटी तक जीवित रहने वाले को भुगतान किया जाता है

पिछले कुछ वर्षों में किसान विकास पत्र योजना द्वारा दी जाने वाली ब्याज दरें निम्नलिखित हैं:

समय सीमा किसान विकास पत्र की ब्याज दर
वित्तीय वर्ष की दूसरी तिमाही 2019-20 7.6% (113 महीनों में मैच्योरिटी)
वित्तीय वर्ष की पहली तिमाही 2019-20 7.7% (112 महीने में मैच्योरिटी)
वित्तीय वर्ष की चौथी तिमाही 2018-19 7.7% (112 महीने में मैच्योरिटी)
वित्तीय वर्ष की तीसरी तिमाही 2018-19 7.7% (112 महीने में मैच्योरिटी)
वित्तीय वर्ष की दूसरी तिमाही 2018-19 7.3% (118 महीनों में मैच्योरिटी)
वित्तीय वर्ष की पहली तिमाही 2018-19 7.3% (118 महीनों में मैच्योरिटी)

किसान विकास पत्र में मूल राशि पर सालाना चक्रवृद्धि व्याज कैल्कुलेट होता है

किसान विकास पत्र डाउनलोड करें

किसान विकास पत्र प्रमाणपत्र के लिए आवेदन करने के लिए, आपको आवेदन पत्र ऑनलाइन डाउनलोड करना होगा या सीधे डाकघर से प्राप्त करना होगा। इस फॉर्म को पोस्ट ऑफिस में भरना और जमा करना होगा। यहां किसान विकास पत्र फॉर्म डाउनलोड करने के लिए एक लिंक दिया गया है:

लिंक: किसान विकास पत्र फॉर्म NC-69A1 डाउनलोड करें

ध्यान दिए जाने वाले बिंदु:

  • फॉर्म को डाकघर के संबंधित पोस्टमास्टर जनरल को संबोधित किया जाना चाहिए जहां इसे जमा किया जा रहा है
  • फॉर्म में खरीद की मात्रा स्पष्ट रूप से लिखी गई होनी चाहिए। कटिंग और पुनर्लेखन से बचें
  • KVP फॉर्म की राशि का भुगतान चेक या नकद के माध्यम से किया जा सकता है
  • यदि आप चेक के माध्यम से भुगतान कर रहे हैं, तो कृपया फॉर्म पर चेक नंबर की जानकारी लिखें
  • फॉर्म में स्पष्ट करें KVP एकल या संयुक्त ‘ए‘ या संयुक्त ‘बी‘ सदस्यता, किस आधार पर खरीदा जा रहा है। यदि इसे संयुक्त रूप से खरीदा जाता है, तो दोनों लाभार्थियों के नाम लिखे करें
  • यदि लाभार्थी नाबालिग है, तो उसकी जन्म तिथि (DOB), माता–पिता का नाम, अभिभावक का नाम
  • फॉर्म पर पूरा नाम, जन्मतिथि और नामांकित व्यक्ति का पता (यदि कोई हो) लिखा जाना चाहिए
  • फॉर्म जमा करने पर, लाभार्थी के नाम, मैच्योरिटी तिथि और मैच्योरिटी राशि के साथ किसान विकास प्रमाणपत्र प्रदान किया जाएगा

किसान विकास पत्र पोस्ट ऑफिस को ऑनलाइन कैसे ट्रांसफर करें?

ग्राहकों की सुविधा के लिए, डाक विभाग, भारत ने एक डाकघर से दूसरे में प्रमाण पत्र के ट्रांसफर की अनुमति दी है।

रजिस्टर्ड डाकघर से किसी अन्य डाकघर में ट्रांसफर करने के लिए, खाताधारक को किसान विकास पत्र ट्रांसफर फॉर्म–बी भरना होगा और इसे रजिस्टर्ड डाकघर में सभी आवश्यक दस्तावेजों के साथ जमा करना होगा:

लिंकKYP ट्रांसफर फॉर्म-बी डाउनलोड करें

KVP डाकघर ट्रांसफर के लिए आवश्यक दस्तावेज:

  • विधिवत रूप से भरा और फॉर्म बी
  • पहचान का प्रमाण (आधार कार्ड / पैन कार्ड / ड्राइविंग लाइसेंस / वोटर आईडी)
  • पते का प्रमाण (पासपोर्ट / बिजली बिल / पानी का बिल / बैंक स्टेटमेंट)
  • मूल KVP प्रमाणपत्र
  • खाता धारक द्वारा हस्ताक्षरित ट्रांसफर को वैरीफाई करने वाला आवेदन
Spread the love

1 thought on “किसान विकास पत्र : Kisan Vikas Patra (KVP)”

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top